Karma(कर्म)

हृदय रूपी मन्दिर

मनुष्य कभी भी अपने भीतर-“हृदय रूपी मन्दिर” में बैठे हुए ईश्वर को नहीं देख पाता

हृदय रूपी मन्दिर एक बार भगवान दुविधा में पड़ गए! कोई भी मनुष्य जब मुसीबत में पड़ता, तो भगवान के पास भागा-भागा आता और उन्हें अपनी परेशानियां बताता, उनसे कुछ न कुछ मांगने लगता! अंतत: उन्होंने इस समस्या के निराकरण के लिए देवताओं की बैठक बुलाई और बोले- देवताओं, मैं मनुष्य की रचना करके कष्ट …

मनुष्य कभी भी अपने भीतर-“हृदय रूपी मन्दिर” में बैठे हुए ईश्वर को नहीं देख पाता Read More »

बुद्धि का प्रयोग

बुद्धि का प्रयोग करके हर संकट का हल निकाला जा सकता है

बुद्धि का प्रयोग एक जंगल में एक बहुत पुराना बरगद का पेड़ था। उस पेड़ पर घोंसला बनाकर एक कौआ-कव्वी का जोड़ा रहता था। उसी पेड़ के खोखले तने में कहीं से आकर एक दुष्ट सर्प रहने लगा। हर वर्ष मौसम आने पर कव्वी घोंसले में अंडे देती और दुष्ट सर्प मौक़ा पाकर उनके घोंसले …

बुद्धि का प्रयोग करके हर संकट का हल निकाला जा सकता है Read More »

शस्त्रमेवजयते

शस्त्रमेवजयते

शस्त्रमेवजयते आप रोड पर जा रहे हैं , आपकी तू-तू मैं-मैं किसी जेहादी से हो गई।गलती उसकी थी, पर जिहादी अपनी गलती कहां मानेगा। तो बात बढ गई , आपने भी आव देखा ना ताव, तुरंत 100 नंबर पर फोन किया और पुलिस को सूचित कर दिया।इसी बीच जेहादी दौड़ के गया और मांस काटने …

शस्त्रमेवजयते Read More »

अच्छे कर्म-बुरे कर्म

अच्छे कर्म-बुरे कर्म

अच्छे कर्म-बुरे कर्म 1 दिन एक राजा ने अपने 3 मन्त्रियो को दरबार में बुलाया, और तीनो को आदेश दिया के एक एक थैला ले कर बगीचे में जाएं ..,औरवहां से अच्छे अच्छे फल (fruits ) जमा करें . 🍏🍋🍒🍇🍑🍈🍌वो तीनो अलग अलग बाग़ में प्रविष्ट हो गए ,पहले मन्त्री ने कोशिश की के राजा …

अच्छे कर्म-बुरे कर्म Read More »

कर्म

कर्म का सिद्धांत

कर्म अचानक अस्पताल में एक एक्सीडेंट का केस आया ।अस्पताल के e मालिक डॉक्टर ने तत्काल खुद जाकर आईसीयू में केस की जांच की।अपने स्टाफ को कहा कि इस व्यक्ति को किसी प्रकार की कमी या तकलीफ ना हो।उसके इलाज की सारी व्यवस्था की।रुपए लेने से भी या मांगने से भी मना किया। 15 दिन …

कर्म का सिद्धांत Read More »