Month: September 2020

नारियल

स्त्रियों को भूल से भी नहीं फोड़ना चाहिए नारियल?

नारियल को श्रीफल के नाम से भी जाना जाता है भगवान विष्णु जब पृथ्वी में प्रकट हुए तब स्वर्ग से वे अपने साथ तीन चीजे भी लाये। जिनमे पहली चीज़ थी माता लक्ष्मी, दूसरी चीज वे अपने साथ कामधेनु गाय लाये थे तथा तीसरी व आखरी चीज़ थी

परमात्मा

परमात्मा ही जगत की व्यवस्था का कुशल संचालन करते हैं। अतः परमात्मा पर विश्वास ही नहीं, बल्कि दृढ़ विश्वास होना चाहिए।

(परमात्मा)किसी नगर में एक सेठ जी रहते थे, उनके घर के नजदीक ही एक मंदिर था। एक रात्रि को पुजारी के कीर्तन की ध्वनि के कारण उन्हें ठीक से नींद नहीं आयी…. सुबह उन्होंने पुजारी जी को खूब डाँटा कि ~ यह सब क्या है? पुजारी ~ एकादशी का जागरण कीर्तन चल रहा था…!! सेठजी …

परमात्मा ही जगत की व्यवस्था का कुशल संचालन करते हैं। अतः परमात्मा पर विश्वास ही नहीं, बल्कि दृढ़ विश्वास होना चाहिए। Read More »

घर

औरत चाहे घर को स्वर्ग बना दे, चाहे नर्क!

एक गांव में एक जमींदार था। उसके कई नौकरों में जग्गू भी था। गांव से लगी बस्ती में, बाकी मजदूरों के साथ जग्गू भी अपने पांच लड़कों के साथ रहता था। जग्गू की पत्नी बहुत पहले गुजर गई थी। एक झोंपड़े में वह बच्चों को पाल रहा था। बच्चे बड़े होते गये और जमींदार के …

औरत चाहे घर को स्वर्ग बना दे, चाहे नर्क! Read More »

शांत

उसने घर छोड़ने का निर्णय अशांत मन से लिया था

जब भी हमारा मन अशांत होता है तब हमें कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय नहीं लेना चाहिए। ऐसी स्थिति में निर्णय में गलती हो सकती है, जिससे भविष्य में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। मन शांत होने की प्रतिक्षा करें और इसके बाद ही कोई निर्णय लें। अशांत मन के संबंध में गौतम बुद्ध …

उसने घर छोड़ने का निर्णय अशांत मन से लिया था Read More »

कुछ

कुछ रह तो नहीं गया?

😑 तीन महीने के बच्चे को दाई के पास रखकर जॉब पर जाने वाली माँ को दाई ने पूछा… “कुछ रह तो नहीं गया…? पर्स, चाबी सब ले लिया ना…?” अब वो कैसे हाँ कहे… पैसे के पीछे भागते भागते… सब कुछ पाने की ख्वाईश में वो जिसके लिये सब कुछ कर रही है, वह …

कुछ रह तो नहीं गया? Read More »

जीवन संगिनी

अगर जीवन संगिनी है, तो दुनिया में सब कुछ है!

अगर पत्नी है तो दुनिया में सब कुछ है। राजा की तरह जीने और आज दुनिया में अपना सिर ऊंचा रखने के लिए अपनी जीवन संगिनी का शुक्रिया। आपकी सुविधा असुविधा आपके बिना कारण के क्रोध को संभालती है। तुम्हारे सुख से सुखी है और तुम्हारे दुःख से दुःखी है। आप रविवार को देर तक …

अगर जीवन संगिनी है, तो दुनिया में सब कुछ है! Read More »

चौखट

किवाड़ दिल से घर की चौखट से जड़े रहते हैं | The Doors remain heartbroken by the door frame

क्या आपको पता है ? कि किवाड़ की जो जोड़ी होती है, उसका एक पल्ला पुरुष और, दूसरा पल्ला स्त्री होती है। ये घर की चौखट से जुड़े – जड़े रहते हैं। हर आगत के स्वागत में खड़े रहते हैं।। खुद को ये घर का सदस्य मानते हैं। भीतर बाहर के हर रहस्य जानते हैं।। …

किवाड़ दिल से घर की चौखट से जड़े रहते हैं | The Doors remain heartbroken by the door frame Read More »

अधिक मास

“अधिक मास 18 सितंबर से”

15 दिन रहेंगे शुभ योग और मुहूर्त, 9 दिन तक रहेगा सर्वार्थसिद्धि योग और 2 दिन रहेगा – पुष्य नक्षत्र का संयोग। “अधिक मास में विष्णु मंत्रों का जाप विशेष लाभकारी” :~ || 18 सितंबर से शुरू हो रहे अधिक मास में 15 दिन शुभ योग रहेंगे। शुक्रवार, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र और शुक्ल योग में शुरू …

“अधिक मास 18 सितंबर से” Read More »

तिल का तेल

पृथ्वी का अमृत.. तिल का तेल

यदि इस पृथ्वी पर उपलब्ध सर्वोत्तम खाद्य पदार्थों की बात की जाए तो तिल का तेल का नाम अवश्य आएगा और यही सर्वोत्तम पदार्थ बाजार में उपलब्ध नहीं है. और ना ही आने वाली पीढ़ियों को इसके गुण पता हैं. क्योंकि नई पीढ़ी तो टी वी के इश्तिहार देख कर ही सारा सामान ख़रीदती है. …

पृथ्वी का अमृत.. तिल का तेल Read More »

Astrology

Which 9 Habits are Bad According to Astrology

Astrology 1: Should not spit anywhere: – If you ever have the habit of spitting, then you should assume that your fame, honor, and your reputation is not going to last long. If wealth is good, consider it as lost. By this habit, Mercury and Sun start giving bad effects. Astrology 2: Used Plate: – …

Which 9 Habits are Bad According to Astrology Read More »

Sharing The Misfortune

Brother-Brothers are for Sharing the Misfortune and not for the Division of Property

Sharing The Misfortune Ram, Lakshmana, Bharata, and Shatrughna is a childhood episode of the four brothers. When these people used to play, Lakshmana followed them towards Ram and the frontcourt had Bharata and Shatrughna. Then Laxman always said to Bharat that Ram Bhaiya loves me the most, only then he keeps me with him in …

Brother-Brothers are for Sharing the Misfortune and not for the Division of Property Read More »

Kedarnath

“Why is Kedarnath called ‘Jagrit Mahadev’?”

Kedarnath Once a Shiva-devotee left his village on a journey to Kedarnath Dham. Earlier there was no traffic facilities, he got out on foot. Whoever got in the way would have asked the route of Kedarnath. Lord Shiva kept meditating in the mind. Her months passed while walking. Finally, one day he reached Kedar Dham, …

“Why is Kedarnath called ‘Jagrit Mahadev’?” Read More »